News & Circulars
जीवन में सार्थक रूपांतरण करने वाला पाठ्यक्रम है आनंदम् - कुलपति
Uploaded On : 19 February, 2021
विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय की स्थापना के साथ उच्च शिक्षा में होगा नवसृजन
Uploaded On : 06 February, 2021
प्राचीन शिक्षा संस्कृति का होगा पुनः प्रादुर्भाव जिसने विश्व स्तर पर बनाई थी विश्वविद्यालयो की अलग पहचान
Uploaded On : 06 February, 2021
वैश्विक परिदृश्य के समक्ष सुविवि का सशक्त दृष्टिकोण
Uploaded On : 06 February, 2021
500 करोड़ की संभावित लागत से विश्व स्तरीय मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय का प्रस्तावित रोड़ मैप-2021
Uploaded On : 06 February, 2021
प्रदेश का मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय अब होगा विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय की दौड़ में शामिल : कुलपति प्रो.अमेरिका सिंह का विश्वस्तरीय रोड़ मैप
Uploaded On : 06 February, 2021
सुविवि को विश्वस्तरीय बनाने के लिए शिक्षकों को सक्रिय योगदान देना होगा- प्रो सिंह
Uploaded On : 06 February, 2021
information Regarding Deparment Meeting
Uploaded On : 29 January, 2021
Placement Notice of Pragya International
Uploaded On : 25 January, 2021
PLACEMENT NOTICE
Uploaded On : 23 January, 2021

जीवन में सार्थक रूपांतरण करने वाला पाठ्यक्रम है आनंदम् - कुलपति

Uploaded On : 19 February, 2021

उदयपुर। सुखाड़िया विश्वविद्यालय में आनंदम पाठ्यक्रम की एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आनंद प्रवाह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उच्च एवं तकनीकी शिक्षाविभाग  की प्रमुख शासनसचिव डॉ.  शुचि शर्मा ने कहा कि आनंदम एक ईश्वरीय प्रेरणा से जन्मा एक विचार है जो छात्रों को आनन्द की सहज मानवीय स्थिति में रखने वाला है।  इसका किसी संप्रदाय या राजनीति से कोई संबंध नहीं है।   यह क्रेडिट कोर्ट के रूप में पूरे राजस्थान में लागू कर दिया गया है और छात्रों को खुशियां बांटने और खुश रहने के के लिए बनाया गया है।  मैत्री,  करुणा, सहृदयता, सृजनता और नेतृत्व के गुणोंं का इससे विकास होगा। सामाजिक समस्याओं की समझ और उन्हें मिलकर सुलझाने में छात्र स्वयं अपनी भूमिका तय करेंगे। कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि सुविवि में यह पाठ्यक्रम सबसे प्रभावी तरीके से लागू किया गया है। विद्यार्थी समूह और शिक्षक सभी मन लगाकर इस पाठ्यक्रम के संचालन में पहल कर रहे हैं।  आनंदम् कोर्स में छात्रों को रोजाना भलाई का काम करके उसे दैनिक डायरी में दर्ज करना होता है तथा समूह में कोई सामुदायिक सेवा प्रोजेक्ट पर काम करना होता है।  प्रो. सिंह ने  विश्वविद्यालय की ओर से केम्पस में पढ रहे नियमित छात्रों को आनंदम् डायरी देने  और  ग्रुप एक्टीविटी में श्रेष्ठ परियोजना को पुरस्कृत करने की भी घोषणा की। सुविवि आनन्दम् परामर्श समिति का गठन करने का भी निर्णय लिया। 
विशिष्ट अतिथि प्रजापिता ब्रह्माकुमारी विवि के शिक्षाप्रमुख डॉ. बीके मृत्युञ्जय ने छात्रों के जीवन में सदाचार शांति और प्रसन्नता के मूल्यों के विकास पर चर्चा की। विशिष्ट अतिथि डॉ. नीलिमा खेतान ने ग्रुप एक्टीविटी में  कारपोरेट सीएसआर तथा गैरसरकारी संगठनों की भूमिका और समन्वय के बारे में बताया। 
सुविवि आनन्दम् निदेशक प्रो. नीरज शर्मा ने कहा कि परीक्षाफार्म में  वार्षिक योजना में आनंदम्  का प्रेक्टीकल  पेपर 100 नम्बर का और सेमेस्टर में 50 या 2 क्रेडिट का होगा। इस साल सभी कोर्सेज के फर्स्ट सेमेस्टर या फर्स्ट ईयर में चलेगा और अगले सालों में क्रम से लागू  होता रहेगा। स्वयंपाठी छात्रो के लिए यह कोर्स पेपर जरूरी नहीं होगा।

Address
Mohanlal Sukhadia University
Udaipur 313001, Rajasthan, India
EPABX: 0294-2470918/ 2471035/ 2471969
Fax:+91-294-2471150
E-mail: registrar@mlsu.ac.in
GSTIN: 08AAAJM1548D1ZE
Privacy Policy | Disclaimer | Terms of Use | Nodal Officer : Dr. Avinash Panwar
Last Updated on : 06/03/21